हवाई जहाज के कुछ ऐसे राज जो छुपाए जाते हैं

हवाई जहाज के कुछ ऐसे राज जो छुपाए जाते हैं

हवाई यात्रा! दोस्तों, इस शब्द को सुनते ही लगभग सबके मन में हवा में उड़ने का विचार आता है. हवाई जहाज का सफर, जहाज से दिखते बादल, एयरहोस्टेस की सर्विस जैसी चीजों के बारे में हम सोचने लगते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि हवाई जहाज में कई ऐसे राज हैं जिसका कभी कहीं जिक्र नहीं होता है. न ही वह कभी किसी एयर होस्टेस द्वारा आपको बताए जाते हैं? दोस्तों, आज हम आपको हवाई जहाज से जुड़ी ऐसी ही चीजों के बारे में बताने वाले हैं. लेकिन उससे पहले यह जान लीजिए कि एयर लाइनस अपने ग्राहकों को खुश करने के लिए समय-समय पर कई तरह के अपडेट करते रहते हैं. वह अपने ग्राहकों के सफर को आसान और उम्दा बनाने की कोशिश में लगे रहते हैं. चाहे वह कई तरह के व्यंजनों का अपडेट हो या हवाई जहाज में सफर कर रहे चुनिंदा लोगों के लिए शराब का इंतजाम करना हो. बस इन सभी अपडेट और सुविधाओं के लिए हमें मोटे पैसे खर्च करने पड़ते हैं. दोस्तों, यह भी सच है कि कोई भी चीज परफेक्ट नहीं होती है. चाहे वह एयरलाइंस ही क्यों न हों. कई बार एयरलाइंस भी ऐसी गलतियां कर देते हैं जिन्हें हमने कभी सोचा भी नहीं होगा. इस आर्टिकल में हवाई जहाज से जुड़ी कुछ ऐसी बातें भी जानेंगे, जिसे हमने कभी एक्सपेक्ट भी नहीं किया होगा? चलिए जानते हैं.

दोस्तों, दुनिया में हर समय लगभग 10 हजार हवाई जहाज हवा में मौजूद होते हैं. किसी न किसी देश में या देश के किसी न किसी हिस्से में लोग इन हवाई जहाज के जरिए सफर कर रहे होते हैं. एक एवरेज के मुताबिक एक हवाई जहाज में करीब 300 लोग सवार होते हैं, इसका मतलब हर समय लगभग 30 लाख लोग हवा में जहाज से सफर कर रहे होते हैं. दोस्तों, ऐसा इसलिए भी है क्योंकि हवाई जहाज लंबी दूरी तय करने का सबसे आसान और सबसे ज्यादा किफायती सौदा है. हवाई जहाज में हम सोते हुए अपना सफर आसानी से पूरा कर सकते हैं. इसी के साथ थोड़े ज्यादा पैसे देने पर आपको जहाज में हर तरह की सुविधा भी मुहैया कराई जा सकती है. हर एय लाइन कुछ भी करके अपने ग्राहकों के सफर को आसान और मजेदार बनाने की कोशिश करती है. लेकिन जैसा कि हमने पहले भी कहा है कि कोई भी चीज परफेक्ट नहीं होती है. ठीक उसी तरह एयरलाइंस का भी हर काम परफेक्ट नहीं होता है. चलिए हम आपको बताते हैं कि हम ऐसा क्यों कह रहे हैं? चलिए जानते हैं, कुछ ऐसी गलतियां जो एयरलाइंस कंपनियों का नाम खराब करती हैं.

एयरलाइन ने प्लेन पर अपना नाम गलत लिखा: जी हां, दोस्तों, यह सुनने में जितना अजीब लग रहा है. उतना ही देखने में भी अजीब था. साल 2018 के सितंबर महीने में हॉगकॉग बेस्ड एयरलाइन कैथे पेसीफिक ने दुनिया में अपने इस कारनामे के कारण मजाक बनवाया था. दरअसल कैथे पेसीफिक कंपनी के एक हवाई जहाज पर उसका नाम कैथे पेसीइक हो गया था. जहाज बनाने वाली कंपनी ने गलती से यह प्रिंट कर दिया था. लेकिन इसके कारण जहाज की तस्वीरों ने सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटौर ली थी. लोगों ने इस बात की खूब आलोचना भी की साथ ही मजाक भी उड़ाया.

हवाई जहाज में 5000 डॉलर की चोरी: दोस्तों, आप सोच रहे होंगे कि 5000 डॉलर की चोरी से क्या मतलब है. तो आपको बता दें कि इन 5000 डॉलर की चोरी का आरोप फ्लाइट के अटेंडेंट पर लगा था. दरअसल साल 2018 में जून के महीने में तीन भाइयों ने अपने पिता के साथ थाईलैंड से हवाई जहाज में उड़ान भरी थी. बिजनेस क्लास के टिकट लेकर यह चारों दुबई जा रहे थे. लेकिन बीच में जब पिता की तबीयत खराब हो गई तो तीनों बेटे पापा को देखने चले गए. वापस आने पर उन्हें उनके सामान और पैसों में 5000 डॉलर की कमी नजर आई. जैसे ही फ्लाइट दुबई में रूकी तो उन लोगों ने पुलिस की मदद ली. उनके सामान पर फ्लाइट के लगभग 37 अटेंडेंट के फिंगर प्रिंट मिले. इन सभी को चोरी के आरोप में कोर्ट में पेश किया गया लेकिन पैसे नहीं मिलने की वजह से सभी बाइज्जत बरी हो गए. दोस्तों, क्या आपने कभी सोचा था कि किसी प्लेन के क्रू मेंबर्स पर चोरी का आरोप भी लग होगा. अगर हां, तो कमेंट करके बताएं.

बच्चे को किया बंद: दोस्तों, केबिन की बात हो रही है तो इससे जुड़ी घटना का जिक्र करना भी जरूरी है. एक बार एक केबिन क्रू ने बच्चे को अपने पापा के साथ खेलते देखा. पापा उसको हंसाने की कोशिश कर रहे थे. लेकिन बच्चा हंस नहीं रहा था. क्रू मेंबर ने बच्चे को हंसाने और मजाक में उसे सीट के ऊपर बने केबिन में बंद कर दिया. ऐसा करने पर बच्चा और उसके माता-पिता बुरी तरह डर गए. साथ ही इस मजाक के लिए एयरलाइन कंपनी ने उस क्रू मेंबर को भी नौकरी से निकाल दिया.

पायलेट ने प्लेन को तिरछा करके जमीन पर उतारा: साल 2018 के अक्टूबर महीने में ऐसी घटना हुई थी. टीयूआई एयरवेज की फ्लाइट के पायलेट को ऐसी तकनीक का इस्तेमाल करके प्लेन को सुरक्षित एयरपोर्ट पर उतारना पड़ा. क्रेपिंग नाम की इस तकनीक का इस्तेमाल पायलेट ने तूफान में लैंड करने के लिए किया. इस तकनीक में पायलेट को हवाई जहाज के सामने वाले हिस्से को हवा की दिशा में रखकर प्लेन को जमीन पर उतारना होता है. दोस्तों, यह ऐसी तकनीक है जिसे एक पायलेट को सीखना ही होता है.

पायलेट ने यात्रियों के लिए पिज्जा खरीदा: दोस्तों, साल 2018 के सितंबर महीने में अमेरिकन एयरलाइन की एक लंबी दूरी वाली फ्लाइट को बारिश और तूफान के कारण एक छोटे एयरपोर्ट पर रुकना पड़ा. सभी यात्रियों को रात भर उसी एयरपोर्ट पर रूकना पड़ा. यात्रियों को काफी परेशानी हुई साथ ही वह सब निराश नजर आ रहे थे. ऐसे में प्लेन के पायलेट जेफ रेंस ने लोगों में उत्साह वापस लाने के लिए उन सभी 159 यात्रियों को पिज्जा खिलाया. इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ और लोगों ने पायलेट जेफ की काफी तारीफ भी की.

बच्चों को सामान रखने वाली जगह में रखना: दोस्तों, फ्लाइट में सामान रखने के लिए एक परफेक्ट जगह होती है. सीट के ठीक ऊपर मौजूद उस केबिन में आप अपना सामान आसानी से रख सकते हैं. इसी के साथ आप उसमें अपने बच्चों को भी रख सकते हैं. चौंकिए मत. 1950 के दशक में ऐसी एक व्यवस्था होती थी. जिसमें माता-पिता अपने बच्चे को ऊपर बने केबिन में सुला सकते थे. जिससे वह सफर का मजा ले सकें. लेकिन यह कॉन्सेप्ट ज्यादा चल नहीं पाया. दरअसल, हवाई जहाज में सफर करते वक्त कई बार झटके यानी टर्बूलेंस भी महसूस होते हैं. केबिन में बच्चा उतना सुरक्षित नहीं रहता था. जिसके कारण उस कॉन्सेप्ट को खत्म करना पड़ा. अब तो माता-पिता को अपने बच्चों के लिए अलग से सीट बुक करनी पड़ती है.

बाथरूम के चक्कर में प्लेन का दरवाजा खोलने लगा युवक: दोस्तों, साल 2018 के सितंबर महीने में यह हादसा हुआ था. पहली बार प्लेन में सफर कर रहे युवक ने यह करने की कोशिश की थी. दरअसल दिल्ली से पटना जा रही फ्लाइट में सवार युवक ने बाथरूम का दरवाजे समझकर प्लेन के पीछे वाले दरवाजे को खोलने की कोशिश की. हालांकि बाहर और अंदर का प्रेशर अलग होने के कारण वह दरवाजा नहीं खुला. इसके बाद केबिन क्रू ने उसको वहां से हटाकर एक जगह पर बैठा दिया और प्लेन के लैंड करने के बाद उसे एयरपोर्ट सिक्योरिटी टीम को सौंप दिया.

सीट के ऊपर बने केबिन में क्रू मेंबर लेटते हैं: दोस्तों, जब कोई फ्लाइट फुल भरी हुई होती है. तब हमें लगता है कि केबिन में हमारे सामान के लिए जगह नहीं है. लेकिन यह सच नहीं है. प्लेन में सीट के ऊपर बने केबिन में इतनी जगह होती है कि एक आदमी वहां आराम से आ जाता है. दोस्तों, कई बार सोशल मीडिया और एक चाइनीज एयरलाइन के जरिए बनाई गई प्रथा के कारण क्रू मेंबर्स फ्लाइट में बने केबिन में लेटकर अपनी तस्वीरे खिंचवाते हैं. ऐसी कई सारी तस्वीरें आज भी सोशल मीडिया पर खूब शेयर की जाती है. दोस्तों, ऐसा वह सिर्फ मजाक और मस्ती के लिए करते हैं.

दोस्तों, चलिए अब आपको बताते हैं, जहाज से जुड़ी कुछ अजीब बातें जो आपको क्रू मेंबर्स भी नहीं बताते हैं.

पायलेट का खाना: दोस्तों, समय के हिसाब से एयरलाइन कंपनियों ने बहुत से बदलाव किए हैं. पहले जहां 2-3 व्यंजन ही आपको खाने में परोसे जाते थे. वहीं आज हम अपनी पसंद का खाना किसी भी हवाई जहाज में खा सकते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि जहाज के पायलेट्स को कभी भी एक जैसा खाना नहीं दिया जाता है यानि पायलेट और कोपायलेट को हमेशा अलग-अलग तरह का खाना दिया जाता है. ऐसा इसलिए भी किया जाता है क्योंकि अगर एक तरह का खाना खाने के बाद एक पायलेट की तबीयत खराब हो जाए तो दूसरा प्लेन उड़ा सके.

प्लेन चलाते हुए सो जाते हैं पायलेट: दोस्तों, क्या आपने कभी सोचा है कि अगर प्लेन चलाते हुए पायलेट सो जाएं तो क्या होगा? घबराइए नहीं. हम बताते हैं. ऐसा कई बार देखा गया है कि लंबी दूरी की फ्लाइट में पायलेट प्लेन चलाते हुए सो जाते हैं. जब उनकी आंख खुलती है तो उनका साथी पाइलेट भी सोया हुआ होता है. आप सोच रहे होंगे कि ऐसे में प्लेन कैसे उड़ता है ? तो आपको बता दे कि कई बार लंबी दूरी की उड़ान के दौरान पायलेट सो जाते हैं. तब प्लेन का ऑटो पायलेट मोड प्लेन को उड़ाता है और आपकी यात्रा पूरी करवाता है.

जहाज को हेक करना लगभग नामुमकिन: दोस्तों, हवाई जहाज के हैक होने के आपने कई किस्से सुने होंगे. लेकिन अब प्लेन के हाई जैक होने के चांसेस काफी कम हैं. ऐसा इसलिए भी है क्योंकि पहले के मुकाबले अब एयरपोर्ट पर ज्यादा सिक्योरिटी रहती है. लेकिन ऐसे में भी अगर कोई व्यक्ति हवाई जहाज में हथियार ले जाए तब भी प्लेन को हाइजैक करना लगभग नामुमकिन है. ऐसा इसलिए हैं क्योंकि कई सारे देश अपने हवाई जहाज में सिविल ड्रेस में कमाडो को हर फ्लाइट में सफर करवाते हैं. हर फ्लाइट में अब 2-3 कमांडो मौजूद होते हैं. जो फ्लाइट हाइजैक से निपटने की तकनीकों के बादशाह होते हैं.

पाइलेट की सीट की पीछे हथौड़ी होती है: दोस्तों, अब आप सोच रहे होंगे की प्लेन में हथौड़ी का क्या काम है तो आपको बता दें कि कोई भी उड़ान पूरी तरह सेफ नहीं होती है. अगर बीच में प्लेन में किसी तरह की खराबी आए और दरवाजा न खुले तो पाइलेट इस हथौड़ी के इस्तेमाल से उस दरवाजे को खोलते हैं.

हवाई जहाज का ब्लैक बॉक्स: दोस्तों, हर प्लेन में एक ब्लैक बॉक्स मौजूद होता है. ब्लैक बॉक्स का नाम सिर्फ ब्लैक बॉक्स होता है. असल में यह ऑरेंज कलर का होता है. इस बॉक्स में प्लेन में हो रही हर गतिविधि रिकॉर्ड होती है. यह ब्लैक बॉक्स एक सुरक्षा कवच से ढका हुआ होता है. यदि कभी प्लेन क्रेस होता है तो यह ब्लैक बॉक्स उस मलबे में बच जाता है. साथ ही इसके ऑरेंज कलर की मदद से इसे कहीं भी आसानी से ढूंढा जा सकता है. साथ ही इसमें हुई रिकॉर्डिंग की मदद से प्लेन की सारी घटनाओं को देखा जा सकता है.

प्लेन के टॉयलेट में होता है इमरजेंसी बटन: दोस्तों, सोचिए अगर आप या कोई छोटा बच्चा प्लने के टॉयलेट में लॉक हो जाए और दरवाजा न खुले तो क्या होगा. अगर आप सोच रहे हैं कि दरवाजे को तोड़ना पड़ेगा तो आप गलत हैं. दोस्तों, इस कंडीशन के लिए पहले से ही प्लेन में इंतजाम किया हुआ होता है. टॉयलेट के ऑक्यूपाइड लिखी हुई जगह के ऊपर  बने निशान के नीचे एक इमरजेंसी बटन होता है. उसका इस्तेमाल तभी होता है जब कोई बच्चा या इंसान अंदर फंसा हुआ होता है और बाहर नहीं निकल पाता.

दोस्तों, यह तो थी हवाज जहाज से जुड़ी बातें जो आपको कोई और नहीं बताएगा. साथ ही अब आप यह भी समझ चुके हैं कि यदि आप प्लेन के टॉयलेट में फंसे है तो आपको चिंता करने की कोई बात नहीं है. इसी के साथ प्लेन से जुड़ा एक आखरी फेक्ट भी बता देते हैं. अगर प्लेन में उड़ान के दौरान कोई व्यक्ति मर जाता है तो उसे क्रू मेंबर्स उसकी सीट पर कुछ इस तरह बैठा देते है जैसे वह सो रहा हो. तो अब अगर आप किसी फ्लाइट में सफर कर रहे हो तो एक बार चेक जरूर कर ले कि कहीं आप किसी लाश के साथ तो सफर नहीं कर रहे हैं. दोस्तों, अब आप बताइए कि आपको इन सबमें सबसे ज्यादा चौकाने वाली बात क्या लगी और क्यों? कमेंट करके जरूर बताएं.

Related News

Comment (0)

Comment as: